Advertisements

Kaushalya Matritva Yojana -कौशल्या मातृत्व योजना [Registration]

Kaushalya Matritva Yojana Chhattisgarh | Kaushalya Matritva Yojana 2022 | Kaushalya Matritva Yojana Apply| Kaushalya Matritva Yojana Eligibility

Advertisements

छत्तीसगढ़ सरकार ने हाल ही में कौशल्या मातृत्व योजना(Kaushalya Matritva Yojana) शुरू कि है । इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ सरकार बेटी जन्म के समय 5000 की सहायता राशि प्रदान करेगी। यह योजना छत्तीसगढ़ में शुरू की गई है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार छत्तीसगढ़ कौशल्या मातृत्व योजना में अपना आवेदन कर सकते हैं, और Kaushalya Matritva Yojana 2022 योजना क्या है, इसमें किस तरह ₹5000 का चेक दिया जाता है तथा कौन-कौन लाभार्थी है।

Kaushalya Matritva Yojana 2022

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हाल ही में Kaushalya Matritva Yojana 2022 की शुरुआत की है। इस योजना के तहत यदि किसी महिला के दूसरी बार संतान के रूप में बेटी पैदा होती है तो सरकार महिला तथा बेटी को ₹5000 का चेक प्रदान करेगी, इस ₹5000 का उपयोग करके महिला तथा बेटी को कुपोषण से बचाया जा सकता है, इस ₹5000 का उपयोग करके महिला अपने लिए जरूरी पदार्थ तथा विटामिंस ले सकती है।

Advertisements
Kaushalya Matritva Yojana
कौशल्या मातृत्व योजना 2022
Advertisements

आपको बता दें कि इस योजना का लाभ तभी मिलता है जब महिला दूसरी बार बेटी को जन्म देती है तभी छत्तीसगढ़ सरकार महिला को ₹5000 का चेक प्रदान करेगी।

छत्तीसगढ़ कौशल्या मातृत्व योजना का उद्देश्य

हाल ही में छत्तीसगढ़ सरकार ने Kaushalya Matritva Yojana छत्तीसगढ़ की शुरुआत की है। इस योजना का उद्देश्य है जन्म के समय महिला तथा बेटी को कुपोषण से बचाना, इस योजना की मदद से महिला को 5000 की सहायता राशि मिलेगी। इस 5000 की सहायता राशि की मदद से महिला अपनी बेटी को कुपोषण का शिकार होने से बचा सकती है।

Advertisements

कौशल्या मातृत्व योजना शुरू हो जाने से छत्तीसगढ़ में कन्या भ्रूण हत्या जैसी महामारी पर रोक लगेगी, इससे बेटियों के प्रति लोगों में उत्साह बढ़ेगा, इस योजना के शुरू हो जाने से लोग बेटियों को बोझ नहीं समझेंगे, क्योंकि छत्तीसगढ़ सरकार समय-समय पर महिलाओं के लिए अनेक योजनाएं चला रही है। अब बेटी के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई पूरी होने तक योजनाएं शुरू हो चुकी है जिसमें बेटी जन्म से लेकर अपनी पढ़ाई पूरी करने तक विभिन्न योजनाओं में जुड़कर लाभ प्राप्त कर सकती है।

छत्तीसगढ़ सरकार की इन योजनाओं की मदद से छत्तीसगढ़ में महिला साक्षरता दर में वृद्धि हुई है और आगे भी होती रहेगी तथा कौशल्या मातृत्व योजना (Kaushalya Matritva Yojana) शुरू हो जाने के बाद कन्या भ्रूण हत्या पर भी रोक लगेगी, कन्या भ्रूण हत्या जैसी महामारी के दर में भी गिरावट आएगी । अब छत्तीसगढ़ में लोग कन्याओं के जन्म पर दुखी नहीं बल्कि खुश होंगे।

Kaushalya Matritva Yojana Highlights

योजना का नामकौशल्या मातृत्व योजना [Kaushalya Matritva Yojana]
योजना की शुरुआतमार्च 2022
सरकार का नामछत्तीसगढ़ सरकार
Yojana ki websiteSoon
Advertisements

कौशल्या मातृत्व योजना हेतु पात्रता

इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ की मूल निवासी महिला ही प्राप्त कर सकती है,

योजना का लाभ महिला को तब मिलेगा जब दूसरी बार महिला बेटी को जन्म देती है, उस समय सरकार ₹5000 की सहायता राशि प्रदान करेगी।

इस योजना में लाभ तभी मिलेगा जब महिला की आयु 18 साल से अधिक है तथा बेटी का जन्म किसी राजकीय अस्पताल में हुआ है।

यदि दूसरी बार महिला बेटे को जन्म देती है तो उसे यह राशि नहीं दी जाएगी, क्योंकि यह केवल बेटी के जन्म के समय ही दी जाएगी।

Read more: Shadi Anudan Yojana – बेटियों की शादियों पर 51000 की सहायता राशि,

Kaushalya Matritva Yojana हेतु आवश्यक दस्तावेज

यदि आप छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हैं और छत्तीसगढ़ मातृत्व योजना हेतु आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास मूल दस्तावेज होने अनिवार्य है, जिन की सूची कुछ इस प्रकार है।

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • महिला का वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक खाता (Bank Account)
  • महिला का आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर (Active)

छत्तीसगढ़ कौशल्या मातृत्व योजना में आवेदन

कौशल्या मातृत्व योजना में आवेदन (Kaushalya Matritva Yojana Apply) करने के लिए आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा, इस योजना का लाभ आपको तभी मिलेगा जब आप निम्न बातों का ध्यान रखेंगे जो कुछ इस प्रकार है।

  • महिला को गर्भधारण के दौरान अपने नजदीकी उप स्वास्थ्य केंद्र या स्वास्थ्य केंद्र में जच्चा बच्चा कार्ड बनवाना होगा।
  • कार्ड के दौरान महिला को समय-समय पर जरूरी जांच के लिए बुलाया जा सकता है यह जांच भी करवाना आवश्यक है।
  • इस कार्ड के दौरान महिला की समय-समय पर जांच होगी, जिसमें यह देखा जाएगा कि जच्चा बच्चा दोनों सुरक्षित है या नहीं।
  • यदि महिला ने जच्चा बच्चा कार्ड के तहत सभी जांच समय-समय पर करवाई है तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या उप स्वास्थ्य केंद्र या उससे जुड़े हुए राजकीय ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र की महिला नर्स के संपर्क में रही है।
  • तो आपके गांव या शहर की महिला नर्स जो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या उप स्वास्थ्य केंद्र में काम करती है, द्वितीय प्रेगनेंसी के दौरान डिलीवरी होने पर यदि बेटी का जन्म होता है तो आवेदन करवा देगी।

हाल ही में इस योजना हेतु केवल ऑफलाइन आवेदन हो रहे हैं जल्द ही इस योजना में ऑनलाइन आवेदन होना शुरू हो जाएगा। यह जानकारी भी हम आपके साथ साझा कर देंगे।

छत्तीसगढ़ कौशल्या मातृत्व योजना के लाभ

यदि महिला दूसरी बार डिलीवरी के दौरान बेटी को जन्म देती है तो छत्तीसगढ़ सरकार ऐसे में महिला को कुपोषण से बचाने के लिए तथा बेटी को कुपोषण से बचाने के लिए 5000 की सहायता राशि प्रदान करेगी।

  • Kaushalya Matritva Yojana के दौरान यदि बेटी का जन्म होता है तो सरकार बेटी के पढ़ाई के लिए भी invest करेगी, इसके लिए सरकार ने अलग से योजना चला रखी है।
  • इस योजना की मदद से छत्तीसगढ़ में हो रहे कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगेगी तथा लोग बेटियों के प्रति आकर्षित होंगे, उनमें भी बेटियों के प्रति भेदभाव खत्म हो जाएगा।
  • योजना के शुरू हो जाने के बाद बेटी को भी समानता का अधिकार मिलेगा तथा जीवन में कुछ करने के लिए परिवार उसकी सहायता कर सकेंगे।
  • आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में बेटी के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक सारा खर्चा सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत दिया जाएगा, इसके लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने तरह-तरह की योजनाएं चला रखी है।

हम हमारी इस वेबसाइट पर आपके साथ हमेशा नई-नई योजनाओं से जुड़ी हुई जानकारी शेयर करते रहते हैं।इसलिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को join जरूर करें जिसका लिंक आपको इसी वेबसाइट के होम पेज पर मिल जाएगा।

छत्तीसगढ़ कौशल्य मातृत्व योजना की विशेषता

छत्तीसगढ़ सरकार समय-समय पर अनेक योजनाएं चलाती रहती है जो महिलाओं एवं बच्चियों के बेहतर भविष्य के लिए काम करती है जिनमें शिक्षा तकनीकी रोजगार शामिल है।

कौशल्या मातृत्व योजना छत्तीसगढ़ (Kaushalya Matritva Yojana) शुरू हो जाने के बाद में छत्तीसगढ़ में कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगेगी, इस योजना की मुख्य विशेषता है इसमें बेटियों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

बेटियों के जन्म के समय ज्यादातर कुपोषण की बीमारी होती है। अब इस योजना की मदद से जच्चा बच्चा दोनों सुरक्षित होंगे, क्योंकि इस योजना में महिला को 5000 की सहायता राशि दी जाएगी ।

सरकार बेटी के जन्म से लेकर 5 साल तक उसे कुपोषण से बचाने के लिए समय-समय पर टीकाकरण तथा सहायता राशि प्रदान करेगी।

कौशल्या मातृत्व योजना (Kaushalya Matritva Yojana)का लाभ प्राप्त कर चुकी महिला अपनी बेटी के पढ़ाई तथा उसकी शादी के लिए भी सरकार द्वारा चलाई गई योजना में आवेदन कर सकेगी।

Kaushalya Matritva Yojana FAQ

कौशल्या मातृत्व योजना कहां शुरू की गई है?

योजना छत्तीसगढ़ में शुरू की गई है, इस योजना को कौशल्या मातृत्व योजना के नाम से जानते हैं इसमें महिला को विशेष लाभ दिए जाते हैं।

कौशल्या मातृत्व योजना में कितनी सहायता राशि दी जाती है?

यदि महिला दूसरी बार बेटी को जन्म देती है तो सरकार कौशल्या मातृत्व योजना के तहत महिला को ₹5000 की सहायता राशि प्रदान करती है, यह राशि महिला के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है।

कौशल्या मातृत्व योजना का उद्देश्य क्या है?

Chhattisgarh Sarkar कि कौशल्या मातृत्व योजना का मुख्य उद्देश्य है जन्म के दौरान मां तथा बेटी को कुपोषण से बचाना,

Leave a Comment

Advertisements